संवाददाता
राकेश रंजन
रांची झारखंड

झारखंड की राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू ने हेमंत सोरेन को सरकार बनाने का न्योता दिया।  सोरेन ने राजभवन जाकर सरकार बनाने का दावा पेश किया था और 50 विधायकों के समर्थन का पत्र सौंपा था। बताया जा रहा है कि शपथ ग्रहण समारोह में बीजेपी विरोधी तमाम दल अपना शक्ति प्रदर्शन करेंगे | इस समारोह में कांग्रेस के तमाम नेताओं के अलावा शिवसेना , टीएमसी , एनसीपी समेत कई दलों के नेताओं का जमावड़ा लगेगा | हालांकि राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव 29 दिसंबर को होने वाले हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं होंगे। यह जानकारी लालू के बेटे तेजस्वी यादव ने दी। बुधवार को तेजस्वी ने रांची के रिम्स में पिता लालू से मुलाकात की। इसके बाद उन्होंने कहा, मंगलवार को हम से पूछा गया था कि क्या लालू जी को पैरोल पर बाहर आएंगे और शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे। मुझे नहीं पता कि यह खबर कहां से आई, लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि लालू जी अस्वस्थ हैं। इससे स्पष्ट है कि वह समारोह में शामिल नहीं होंगे। उन्होंने देश और संविधान को बचाने के लिए झारखंड की जनता को धन्यवाद दिया है।  

बताया जाता है कि JMM और कांग्रेस में मंत्री बनने के लिए विधायकों की होड़ मच गई है| झारखंड में कांग्रेस प्रभारी आरपीएन सिंह ने कहा कि मंत्रिमंडल का स्वरूप कैसा होगा, इसका फैसला सोनिया गांधी को करना है। पार्टी के 16 विधायकों में अधिकतर पहली बार जीतकर आए हैं। सबसे युवा महिला विधायक अंबा प्रसाद चर्चित चेहरों में उभरी हैं। सूत्रों की मानें पार्टी उन्हें मंत्रिमंडल में मौका दे सकती हैं। अंबा रांची हाईकोर्ट में वकालत करती हैं। अंबा ने लोकसभा चुनाव में भी पार्टी से टिकट मांगा था।