रिपोर्टर
महाराट्र

मुंबई 26 नवंबर 2019। महाराष्ट्र में पिछले चार दिन से चल रहे पॉलिटिकल ड्रामे का आज अंत हो गया। सूबे के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उनसे कुछ देर पहले डिप्टी सीएम अजीत पवार ने भी इस्तीफा दे दिया है। विधायकों की जादुई संख्या न जुटा पाने के कारण फ्लोर टेस्ट में फजीहत से बचने फड़नवीस ने यह कदम उठाया है। प्रेस कांफ्रेंस में इस्तीफे का ऐलान करते हुए फड़णवीस ने कहा कि उनके पास बहुमत नहीं है, वो इस्तीफा देने जा रहे हैं। फड़णवीस ने गठबंधन को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि उम्मीद है कि वो अच्छी तरह से सरकार चलायेंगे। उन्होंने निशाना साधते हुए कहा कि ये दल सिर्फ सत्ता के लिए साथ आये हैं।

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने आज सुबह अपने फैसले में कल शाम को विधानसभा में विधायकों का फ्लोर टेस्ट करने का आदेश दिया था। जबकि, राज्यपाल ने सरकार को 30 नवंबर तक की मोहलत दी थी बहुमत साबित करने के लिए। राज्य सरकार की कोशिश भी यही थी कि किसी तरह कुछ और समय मिल जाए। लेकिन, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद प्रदेश की राजनीति 180 डिग्री टर्न कर गई। वैसे भी कल शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने मुंबई के हयात होटल में 163 विधायकों का मीडिया के सामने परेड कराया था। इसके बाद ही भाजपा नैतिक दवाब में आ गई थी। क्योंकि, उसके पास विधायकों का जादुई संख्या नहीं थी।

अजित को मनाने के लिए एनसीपी की ओर से हर कोशिश की जा रही थी। मंगलवार सुबह अजित पवार की सुप्रिया सुले के पति सदानंद से मुलाकात की खबरें थीं और तभी से कहा जा रहा था कि वह शरद पवार के खेमे में वापस लौट सकते हैं। दिल्ली में संसद सत्र के इतर पीएम नरेंद्र मोदी, अमित शाह और जेपी नड्डा के बीच भी एक मुलाकात हुई। माना जा रहा है कि इस मीटिंग में महाराष्ट्र के हालात को लेकर बात हुई, जिसके बाद ही फड़णवीस के इस्तीफे के संकेत मिले।
इस बीच सुप्रीम कोर्ट की ओर से फ्लोर टेस्ट के आदेश के बाद से उत्साहित विपक्षी खेमे ने राज्यपाल से कांग्रेस के सीनियर विधायक बालासाहेब थोराट को प्रोटेम स्पीकर बनाने की मांग की है। एनसीपी के नेता जयंत पाटील ने कहा कि हमने वरिष्ठता के आधार पर गवर्नर से बालासाहेब थोराट को प्रोटेम स्पीकर बनाने की मांग की है।


शिवसेना के नेता संजय राउत ने कहा कि अजित दादा ने इस्तीफा दे दिया है और अब वह हमारे साथ हैं. उद्धव ठाकरे पूरे 5 साल के लिए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री होंगे. उन्होंने कहा कि आज शाम तीनों दलों की बैठक है और इस बैठक में उद्धव ठाकरे को विधायक दल का नेता चुना जाएगा.

संजय राउत ने कहा कि विधायक दल की बैठक में उद्धव ठाकरे को विधायक दल का नेता चुना जाएगा और वह 5 साल के लिए मुख्यमंत्री बनेंगे. जहां तक सरकार के गिरने की बात है तो उसको जाना ही था और यह आज चली गई.