उपेन्द्र मणि तिवारी
रीवा भोपाल
9752698602

कार्यरत सम्विदा कर्मचरियों ने काली पट्टी पहनकर 10 अक्टूबर को कार्यस्थल में संकेतिक प्रदर्शन प्रारम्भ किया। संविदा स्वराज आंदोलन में प्रदेश के समस्त जिलों में समस्त संविदा कर्मचारियों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया, यह विरोध प्रदर्शन कल 11 अक्टूबर को भी जारी रहा।

21 अक्टूबर को राजधानी भोपाल में होगा बड़ा धरना प्रदर्शन

आंदोलन की रुपरेखा के अनुसार-

1. दिनांक 10, 11 अक्टूबर को जिला स्तर पर काली पट्टी बांधकर काम किया गया।

3.दिनांक 16 अक्टूबर 2019 को जिला स्तर पर स्थानीय सत्ताधारी विधायक/मंत्री/कलेक्टर को मुख्यमंत्री के नाम पर ज्ञापन दिया जाएगा।

3.दिनांक 21 अक्टूबर 2019 को राजधानी भोपाल में बड़ा धरना प्रदर्शन किया जाएगा।

क्या है आंदोलन के पीछे वजह

आंदोलन कर्मियों के अनुसार 1 साल 6 माह बाद भी और मुख्यमंत्री महोदय के 1 अगस्त 2019 के सीधे निर्देश के बाद भी राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन/राज्य।स्वास्थ्य समिति में 5 जून 2018 सामान्य प्रशासन नीति के तहत 90 प्रतिशत वेतन के लागू नहीं हुआ। कांग्रेस सरकार द्वारा वचनपत्र अनुरूप नियमितीकरण की कार्यवाही भी न किए जाने के कारण प्रादेश के लाखो कर्मचरियो मे रोष व्याप्त है.

आंदोलनकारी कर्मचारियों की क्या है प्रमुख मांगें

1.सामान्य प्रशासन नीति अनुरूप 90 प्रतिशत वेतन अविलंब लागू किया जाए।
2.वचन पत्र अनुरूप नियमितीकरण भी ,किसान कर्जमाफी की तर्ज में किया जावे।
3.निष्कासित कर्मचारियों की सेवा बहाली हो और आउटसोर्स किए गए सपोर्ट स्टाफ को एन एच एम् में वापस लिया जावे।