रिपोर्टर
सैमुएल बारीक
सूरजपुर

आयोजित सुपोषण संगोष्ठी एवं किसान सभा को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने लटोरी को तहसील बनाने की घोषणा की। मुख्यमंत्री बघेल ने जिले को 149 करोड़ 04 लाख 24 हजार से अधिक की राशि के कुल 532 विकास एवं निर्माण कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन कर सौगात दी।

इनमें 55 करोड़ 73 लाख 91 हजार रूपये के 121 कार्यों का लोकार्पण एवं 93 करोड 30 लाख 33 हजार रूपये से अधिक के 411 कार्यों का भूमिपूजन शामिल है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि किसानों से हर परिस्थिति में 25 सौ रुपये में धान खरीदी करेंगे। हमने केंद्र सरकार से चावल खरीदी का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि कमजोर और कुपोषित बच्चों से मजबूत छत्तीसगढ़ नहीं बन सकता है, इसलिए सुपोषण अभियान शुरू किया गया है।

जिसमें महिलाओं और बच्चों को पोषण युक्त आहार दिया जा रहा है। मुझे खुशी है कि सूरजपुर पहला जिला है जहां वरिष्ठ नागरिकों को घर पर ही पेंशन पहुँचाई जा रही है। सरकार ने समृद्ध छत्तीसगढ़ बनाने के लिए किसानों का ऋण माफ किया है और धान पर बोनस दे रहे हैं। सरकार ने बिजली बिल आधा किया है और 35 किलो चावल दे रही हैं। उन्होंने कहा कि कुदरगढ़ सूरजपुर निवासियों के साथ ही छत्तीसगढ़ का प्रमुख आस्था का केन्द्र है, वहां नलजल योजना का कार्य शीघ्र शुरू किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन द्वारा लगाये गये विभिन्न स्टालो का अवलोकन किया। सूरजपुर ट्रायबल मार्ट के माध्यम से एनआरएलएम महिला स्व सहायता समूहो को रोजगार तथा आय में वृद्धि के लिए मुख्यमंत्री ने प्रसन्नता व्यक्त की। तेजस्वी सूरजपुर के अंतर्गत ’’गढबो नवा छत्तीसगढ़ जाहु कमाये बर’’ इस नारे के साथ रोजगार उपलब्धता तथा आजीविका के नये अवसर प्रदान कर रही है। उन्होंने शिक्षा, महिला एवं बाल विकास, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग, जिला पंचायत के नरवा, गरुवा, घुरुवा एवं बाड़ी के स्टालो का अवलोकन किया।

कार्यक्रम में किसान परिवार की बालिका चांदनी सिंह ने मंच से ही कर्ज माफी करने पर मुख्यमंत्री को सरगुजिहा बोली में आभार व्यक्त किया। चांदनी ने कहा कि मेरे पिता कृषक है उनपर बैंक का बहुत ऋण था जिसे आपके नेतृत्व वाली सरकार ने माफ किया। इस अवसर पर चांदनी ने बघेल को गुलाब का फूल भेंट किया।

उच्च शिक्षा एवं जिले के प्रभारी मंत्री उमेश पटेल ने मुख्यमंत्री को धन्यवाद देते हुए जिले को मिले सौगातों के लिए जनता की तरफ से आभार व्यक्त किया। पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री ने प्रभारी मंत्रियों को डीएमएफ मद की जिम्मेदारी दी है हम उसका समुचित उपयोग कर रहे है। डीएमएफ मद का उपयोग जिले में एम्बुलेंस, रोजगार, स्व सहायता समूहों के आय मे वृद्धि तथा जनजीवन को बेहतर बनाने में किया जा रहा है।

कलेक्टर दीपक सोनी ने कार्यक्रम के प्रारंभ में मुख्यमंत्री तथा सभी विशिष्ट अतिथियों का अभिवादन किया। कलेक्टर ने जिले में शासन द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं के सफल संचालन की संक्षिप्त जानकारी दी। उन्होने जिला प्रशासन द्वारा विभिन्न योजनाओं के लिए चलाए जा रहे तेजस्वी सूरजपुर, सक्षम सूरजपुर, स्वस्थ सूरजपुर, सुराजी सूरजपुर एवं स्वच्छ सूरजपुर कार्यक्रम की जानकारी मुख्यमंत्री को दी।

इस अवसर पर शिक्षा मंत्री डॉ0 प्रेमसाय सिंह टेकाम, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री अमरजीत भगत, सरगुजा विकास प्राधिकरण अध्यक्ष एवं प्रेमनगर विधायक खेलसाय सिंह, भटगांव विधायक पारसनाथ राजवाडे़, जिला पंचायत अध्यक्ष अशोक जगते, संभागायुक्त ईमिल लकड़ा, पुलिस अधीक्षक राजेश कुकरेजा, जिला पंचायत सीईओ अश्वनी देवांगन उपस्थित थे।